Marylebone Cricket Club Laids Out New Cricket Rules Umpires Can Now Send Off Players – क्रिकेट नियमों में बड़े बदलाव: अंपायर कर देगा मैदान से बाहर, ऐसे नहीं होगा रन आउट



Marylebone Cricket Club Laids Out New Cricket Rules Umpires Can Now Send Off Players

एमसीसी ने क्रिकेट से जुड़े नए नियम जारी किए हैं. नए नियमों के अनुसार व्यवहार से जुड़े गंभीर उल्लंघन के मामलों में अंपायरों को खिलाड़ियों को मैदान से बाहर भेजने का अधिकार होगा. इसके आलावा राण आउट के नियमों में भी बड़ा बदलाव किया गया है. एमसीसी ने इसकी पुष्टि की है और यह नियम एक अक्तूबर 2017 से लागू होंगे.
ये हैं बदलाव

Image Source: Getty Images

1. क्रिकेट के नए नियमों के अनुसार व्यवहार से जुड़े गंभीर उल्लंघन के मामलों में अंपायर खिलाड़ियों को मैदान से बाहर भेज सकते हैं. क्रिकेट से पहले फुटबॉल में भी व्यवहार से संबंधित नियमों का उल्लंघन करने ऊपर खिलाड़ी को मैदान से बाहर भेजने का अधिकार रेफरी को दिया गया है. अक्टूबर से क्रिकेट अंपायर के पास भी ऐसा अधिकार होगा.
2. अब मैदान में ख़राब व्यवहार के वजह से पेनल्टी के रूप में विपक्षी टीम को पांच रन के साथ-साथ खिलाड़ी को पूरे मैच से सस्‍पेंड भी किया जा सकता है.
3. एमसीसी ने बल्ले के आकार को लेकर भी सीमाएं तय की है. अब बैट की चौड़ाई 108mm  और गहराई 67mm होगी.
4. रन आउट के नियम में भी बदलाव किया गया है, जिसके तहत अगर बल्ला और खिलाड़ी एक बार क्रीज क्रॉस कर लेता है तो उसके बाद बल्लेबाज को आउट नहीं दिया जाएगा चाहे गेंद के स्टंप में लगते वक्त उसका बल्‍ला हवा में ही क्‍यों न हो.
गौरतलब है कि एमसीसी की पिछले साल दिसंबर में हुई बैठक के दौरान हुई सिफारिशों के बाद ये नये नियम बनाए गए.
एमसीसी के क्रिकेट प्रमुख जान स्टीफनसन ने कहा, “हमें लगता है कि समय आ गया है कि खिलाड़ियों के खराब बर्ताव के लिए सजा लागू की जाए और शोध बताते हैं कि जमीनी स्तर पर उभरते हुए अंपायर इसके कारण खेल से दूर हो रहे हैं.” उन्होंने कहा, “उम्मीद करते हैं कि ये सजाएं अनुशासनात्मक मामलों से निपटने के लिए उन्हें अधिक आत्मविश्वास देंगी और साथ ही खिलाड़ियों को ऐसा करने से रोकने का काम करेंगी।”
अंपायर दे सकता है ऐसी सजाएं
लेवल एक: इसके तहत अत्यधिक अपील और अंपायर के फैसले पर आपत्ति जताना शामिल है. पहले आधिकारिक चेतावनी दी जाएगी और फिर लेवल एक के दूसरे अपराध पर विरोधी टीम को पांच पेनल्टी रन दिए जाएंगे.
लेवल दो: खिलाड़ी की तरफ गेंद फेंकना या खेल के दौरान जानबूझकर विरोधी से शारीरिक संपर्क. इसके तहत विरोधी टीम को तुरंत पांच पेनल्टी रन दिए जाएंगे.
लेवल तीन: अंपायर को डराना या किसी अन्य खिलाड़ी, टीम अधिकारी या दर्शक को मारने की धमकी देना. इसके तहत विरोधी टीम को पांच पेनल्टी रन मिलेंगे और दोषी खिलाड़ियों को मैच के प्रारूप के आधार पर तयशुदा ओवरों के लिए मैदान से बाहर कर दिया जाएगा.
लेवल चार: अंपायर को धमकाना या मैदान पर कोई भी हिंसक काम करना. पांच पेनल्टी रन और बाकी मैच के लिए दोषी खिलाड़ी मैच से बाहर. अगर अपराध के समय खिलाड़ी बल्लेबाजी कर रहा होगा तो उसे रिटायर्ड आउट माना जाएगा.