Lucknow News Ec Issues Show Cause Notice To Akhilesh Yadav For Controversial Statement Durin Election Campaign – ‘पैसा सबसे और वोट साइकिल को’ बोलकर फंसे अखिलेश, चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस



Lucknow News Ec Issues Show Cause Notice To Akhilesh Yadav For Controversial Statement Durin Election Campaign

चुनाव आयोग ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को उनकी रिश्वत संबंधी टिप्पणी को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया है. आयोग ने उनसे मंगलवार शाम 5 बजे तक इसका जवाब मांगा है. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को भदोही में आयोजित एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि वे अन्य दलों से पैसे ले लें लेकिन वोट ‘साइकिल छाप’ को दें.
अखिलेश यादव ने भदोही के ज्ञानपुर रैली में कहा था कि मैंने सुना है कि वोटरों को पैसा दिया जा रहा है. मेरी सलाह है कि पैसा अपने पास रख लीजिए और साइकिल को वोट दे दीजिए.’ ‘साइकिल’ प्रदेश की सत्ताधारी समाजवादी पार्टी का चुनाव निशान है. अखिलेश के इस विवादास्पद बयान पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लिया है.

Photo : PTI

इससे पहले रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इसी तरह का बयान दिया था. पर्रिकर ने गोवा में एक चुनावी सभा में कहा था कि उन्हें इसमें कोई दिक्कत नहीं है कि लोग अन्य दलों की रैलियों में शामिल होने के लिए उन दलों से पैसा ले लें लेकिन उन्हें वोट ‘कमल’ को ही देना चाहिए. ‘कमल’ भारतीय जनता पार्टी का चुनाव निशान है.
यह भी पढ़ें- केजरीवाल, पर्रिकर के बाद अब अखिलेश बोले- पैसे मिले तो रख लेना पर वोट हमें ही देना
पर्रिकर के इस बयान का चुनाव आयोग ने संज्ञान लेते हुए उन्हें संयम बरतने की सख्त हिदायत दी थी. आयोग ने उनके इस बयान को मतदाताओं को वोट के बदले नोट लेने का प्रलोभन माना था. वहीं आयोग ने केजरीवाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया था. केजरीवाल ने भी गोवा विधानसभा चुनाव में वोटरों से अन्य दलों से धन स्वीकार करने लेकिन वोट ‘झाड़ू’ को वोट देने की अपील की थी. झाड़ू आम आदमी पार्टी का चुनाव चिन्ह है.
उत्तर प्रदेश में अंतिम और सातवें चरण का मतदान बुधवार को होनेवाला है. इसके लिए चुनाव प्रचार शाम 5 बजे खत्म हो चुका है. आखिरी चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी मतदान होनेवाला है.